भारत के प्रमुख त्यौहार

भारत के प्रमुख त्यौहार

भारत एक बहु-सांस्कृतिक देश है, और यहाँ कई तरह के त्योहार मनाए जाते हैं। इन त्योहारों को मनाने के पीछे अलग-अलग धार्मिक, सांस्कृतिक और सामाजिक कारण हैं। भारत के कुछ प्रमुख त्यौहार निम्नलिखित हैं:

दिवाली 
दीवाली, जिसे दीपावली भी कहते हैं, भारत का सबसे बड़ा और प्रमुख हिन्दू त्योहार है। यह प्रकाश के त्योहार के रूप में मनाया जाता है और घरों को दीपों से सजाया जाता है।यह पर्व आमतौर पर अक्टूबर और नवम्बर के बीच मनाया जाता है। दीपावली के त्योहार में लोग अपने घरों को दीपकों की रौशनी से साजा कर प्रकाशित करते हैं, और विभिन्न पूजा करते हैं। यह एक परंपरागत रूप से माँ लक्ष्मी, धन की देवी, की पूजा का समय भी होता है, जिसके साथ धन, संपत्ति, और सफलता की कामना की जाती है।

होली 
होली, भारत में मनाया जाने वाला एक प्रमुख हिन्दू त्योहार है, जो रंगों के साथ मनाया जाता है। यह त्योहार फाल्गुन मास (फेब्रुअरी या मार्च) के पूर्णिमा तिथि को मनाया जाता है। होली का मुख्य आकर्षण होता है रंगों का खेल, जिसमें लोग एक-दूसरे पर विभिन्न रंगों का गुलाल फेंकते हैं और आपसी खुशी-खुशी होली मनाते हैं।

दशहरा 
दशहरा, भारत में मनाया जाने वाला महत्वपूर्ण हिन्दू त्योहार है, जो नवरात्रि के आखिरी दिन के रूप में मनाया जाता है। दशहरा का मुख्य आयोजन होता है दुर्गा पूजा, जिसमें मां दुर्गा की पूजा की जाती है। यह पूजा नवरात्रि के दस दिनों के अंत में सम्पन्न होती है और दशहरा के दिन, मां दुर्गा की मूर्ति को विसर्जन किया जाता है।

ईद 
ईद एक महत्वपूर्ण इस्लामिक धार्मिक त्योहार है,जो इस्लाम धर्म के अनुयायों द्वारा पूरी दुनिया में मनाया जाता है। इसे ईद-उल-फित्र और ईद-उल-अजहा के रूप में जाना जाता है। यह त्योहार रमजान के बाद मनाया जाता है और इसे ईद उल-फ़ित्र भी कहा जाता है। रमजान महीने के रोज़ा रखने के बाद, मुस्लिम लोग ईद-उल-फित्र के दिन नमाज पढ़ते हैं, चांद के हिसाब से रोज़ा खोलते हैं और एक दूसरे को ईद की मुबारकबाद देते हैं। इसे खुशियों और एकता का प्रतीक माना जाता है।

क्रिसमस
इसे ईसाइयों के धर्मी द्वारा यीशु मसीह के जन्मदिन के रूप में प्रतिवर्ष 25 दिसम्बर को मनाया जाता है।क्रिसमस का त्योहार विश्वभर में बड़े धूमधाम और खुशी के साथ मनाया जाता है, और यह आमतौर पर परिवार और दोस्तों के साथ समय बिताने, उपहार देने, गीत गाने, गर्मी आहरण करने, और आपसी मोहब्बत का प्रतीक माना जाता है।क्रिसमस का प्रमुख प्रतीक यह होता है कि लोग अपने घरों को सजाते हैं, क्रिसमस पेड़ को सजाते हैं और उसे लाइट्स और आकर्षक आभूषणों से सजाते हैं।

सरहुल त्योहार
यह त्योहार मुख्य रूप से मुंडा, भूमिज और हो आदिवासियों का एक प्रमुख त्योहार है।सरहुल त्योहार झारखंड, छत्तीसगढ़, उड़ीसा, बंगाल और मध्य भारत के आदिवासिओं का मुख्य त्यौहार है। इस त्योहार के दौरान साल के पेड़ की पूजा की जाती है। साल का पेड़ आदिवासियों के लिए एक पवित्र पेड़ है।

पुष्कर मेला
पुष्कर मेला राजस्थान के पुष्कर में आयोजित होने वाला एक वार्षिक मेला है। यह हिंदू धर्म के सबसे बड़े मेलों में से एक है और यह कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर आयोजित होता है।

गणगौर महोत्सव
णगौर महोत्सव राजस्थान का एक प्रमुख लोक उत्सव है, जो फाल्गुन माह के शुक्ल पक्ष की तृतीया से लेकर पूर्णिमा तक मनाया जाता है। यह उत्सव मुख्य रूप से महिलाओं द्वारा मनाया जाता है, जो अपने सुहाग के लिए पति की लंबी उम्र और सुख-समृद्धि की कामना करती हैं।स त्योहार के दौरान, महिलाएं 16 दिनों तक व्रत रखती हैं और गाय और बछड़े की मिट्टी की मूर्तियों की पूजा करती हैं। इस मूर्ति को गणगौर कहा जाता है।

बिहू पर्व 
बिहू, असम का एक प्रमुख त्योहार है जो साल में तीन बार मनाया जाता है। ये तीन प्रकार के बिहू हैं:
भोगाली बिहू (माघ बिहू): यह जनवरी के मध्य में मनाया जाता है और यह फसलों के बोने का समय होता है।
बोहाग बिहू (रोंगाली बिहू): यह अप्रैल के मध्य में मनाया जाता है और यह असम का नव वर्ष होता है।
काटी बिहू (कंगाली बिहू): यह अक्टूबर के मध्य में मनाया जाता है और यह फसलों की कटाई का समय होता है।
बोहाग बिहू सबसे महत्वपूर्ण बिहू है और इसे पूरे असम में बड़े उत्साह के साथ मनाया जाता है।

हरेली त्यौहार
हरेली त्यौहार छत्तीसगढ़ का एक प्रमुख लोकपर्व है। यह त्यौहार श्रावण मास के कृष्ण पक्ष की अमावस्या को मनाया जाता है। इस दिन किसान अपने खेतों में जाकर फसलों की पूजा करते हैं और उन्हें भेंट देते हैं। हरेली त्यौहार को छत्तीसगढ़ का पहला त्यौहार भी कहा जाता है।

लोकरंग महोत्सव
लोकरंग महोत्सव मध्य प्रदेश के भोपाल में हर साल 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के दिन शुरू होता है और 30 जनवरी को समाप्त होता है।लोकरंग महोत्सव का उद्देश्य भारत की समृद्ध लोक संस्कृति को बढ़ावा देना है। 2023 में लोकरंग महोत्सव का 38वां संस्करण आयोजित किया गया था। इस संस्करण में भारत के विभिन्न राज्यों और विदेशों से कलाकारों ने भाग लिया। उत्सव में विभिन्न प्रकार के लोक नृत्य, संगीत, और नाटक प्रस्तुत किए गए।

लोसांग त्यौहार
लोसांग सिक्किम का नव वर्ष त्योहार है। यह त्योहार तिब्बती चंद्र कैलेंडर के अनुसार 10वें महीने के 18वें दिन मनाया जाता है। लोसांग का अर्थ “नया साल” होता है। यह त्योहार सिक्किम के भूटिया, लेपचा और नेपाली लोगों द्वारा मनाया जाता है।यह त्योहार तिब्बत, नेपाल, भूटान, और सिक्किम सहित कई हिमालयी क्षेत्रों में मनाया जाता है।

गणेश चतुर्थी :
गणेश चतुर्थी हिन्दू धर्म के देवता भगवान गणेश की पूजा और आराधना के रूप में मनाया जाता है। यह त्योहार चैत्र माह (मार्च-अप्रैल) और भाद्रपद माह (अगस्त-सितंबर) के चतुर्थी तिथि को मनाया जाता है।

पोंगल
यह पर्व तमिलनाडु राज्य में खासतौर पर बड़े धूमधाम से मनाया जाता है, लेकिन इसे अन्य दक्षिण भारतीय राज्यों में भी मनाया जाता है। जो खासकर चावल (राइस) की पूरी खेति के मौसम में मनाया जाता है. यह त्योहार जनवरी और फरवरी महीने में मनाया जाता है और तमिलनाडु के लोग इसे बड़े धूमधाम से मनाते हैं. पोंगल का मुख्य आहार होता है “पोंगल” नामक खास चावल की डिश, जिसे गुड़, दाल, घी, और मसालों के साथ बनाया जाता है।

बैसाखी :
बैसाखी, जिसे वैसाखी भी कहा जाता है, एक प्रमुख भारतीय त्योहार है जो हिन्दू पंचांग के अनुसार वैशाख मास के पहले दिन को मनाया जाता है। यह त्योहार पंजाब, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, दिल्ली, और अन्य उत्तर भारतीय राज्यों में खास रूप से मनाया जाता है।

महाशिवरात्रि :
महाशिवरात्रि एक महत्वपूर्ण हिन्दू त्योहार है जो महेश्वर (भगवान शिव) के समर्पण और पूजा के लिए मनाया जाता है। यह त्योहार हिन्दू पंचांग के माघ मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि को मनाया जाता है।

छठ पूजा
छठ पूजा एक हिंदू त्योहार है जो सूर्य देव की पूजा के लिए समर्पित है। यह त्योहार मुख्य रूप से बिहार, झारखंड, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, पश्चिम बंगाल, ओडिशा और छत्तीसगढ़ के राज्यों में मनाया जाता है। छठ पूजा चार दिनों तक चलने वाला एक व्रत है, जो कार्तिक महीने के शुक्ल पक्ष की षष्ठी तिथि से शुरू होता है।

भारत से सम्बंधित अन्य लेख 

दोस्तों इस पोस्ट में हम आप को भारत के कुछ प्रमुख त्यौहार के बारे में जानकारी देने की प्रयास की है। आशा करते हैं आप को इन भारत के प्रमुख त्यौहारों से सम्बंधित जानकारी को अच्छी तरह से समझ गए होंगे। अगर आप को यह लेख पसंद आया तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें और हमें कमेंट कर के जरूर बताएं। धन्यवाद।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top