विषुवत रेखा किसे कहते हैं ?

विषुवत रेखा

विषुवत रेखा को भूमध्य रेखा भी कहाँ जाता है। यह पृथ्वी की सतह पर उत्तरी ध्रुव एवं दक्षिणी ध्रुव से समान दूरी पर स्थित एक काल्पनिक रेखा है जिसे  विषुवत रेखा कहा जाता है। विषुवत रेखा पृथ्वी को उत्तर गोलार्ध और दक्षिण गोलार्ध दो भागों में विभाजित करती है।भूमध्य रेखा/ विषुवत रेखा की लम्बाई लगभग 40,075 की.मि. है और विषुवत रेखा की अक्षांश शून्य (०) होता है।विषुवत रेखा एक महत्वपूर्ण भौगोलिक विशेषता है जो पृथ्वी के वातावरण और जलवायु को प्रभावित करती है।

विषुवत रेखा पर, सूर्य की किरणें वर्ष में दो बार,21 मार्च और 23 सितंबर को लंबवत पड़ती हैं। इन दिनों, दिन और रात की लंबाई समान होती है। विषुवत रेखा के पास के क्षेत्रों में, सूर्य की किरणें वर्ष भर लंबवत पड़ती हैं। इससे सूर्य का प्रकाश अधिक तीव्र होता है और अधिक ऊर्जा प्रदान करता है। इससे इन क्षेत्रों में तापमान अधिक होता है।विषुवत रेखा के पास के क्षेत्रों में, पौधों और जानवरों की एक विस्तृत विविधता पाई जाती है। यहाँ वर्षावन, सवाना और अन्य प्रकार के पारिस्थितिक तंत्र पाए जाते हैं।

भूमध्य रेखा पर स्थित देश के प्रमुख स्थल – गिनी की खाड़ी,अमेज़ॅन नदी,कांगो नदी,मलावी झील,तंजानिया,केन्या,इक्वेडोर

मकर रेखा 

मकर रेखा पृथ्वी के दक्षिणी गोलार्ध में भूमध्य रेखा के समानान्तर 23 डिग्री 26′ 22″ दक्षिण अक्षांश पर, ग्लोब पर पश्चिम से पूर्व की ओर खींची गई एक काल्पनिक रेखा है। 22 दिसम्बर को सूर्य मकर रेखा पर लम्बवत चमकता है। इस दिन दक्षिणी गोलार्ध में सबसे बड़ा दिन होता है और उत्तरी गोलार्ध में सबसे छोटा दिन होता है।मकर रेखा में स्थित क्षेत्र में वर्षा की मात्रा कम होती है और तापमान अधिक होता है।मकर रेखा से होकर गुजरने वाले कुछ देश चिली,अर्जेंटीना,नाम्बिया,दक्षिण अफ्रीका,ऑस्ट्रेलिया,इंडोनेशिया,मॉरीशस,बोत्सवाना,मलेशिया,कनाडा।

कर्क रेखा

कर्क रेखा उत्तरी गोलार्ध में  भूमध्य रेखा से 23.5 डिग्री उत्तर में खींची गई एक कल्पनिक रेखा है। यह ग्लोब पर पश्चिम से पूर्व की ओर खींची गई है। कर्क रेखा केनिकट के क्षेत्रों में उष्णकटिबंधीय जलवायु होती है, इस क्षेत्र में वर्षा आमतौर पर गर्मियों में होती है। कर्क रेखा भारत के आठ राज्यों से होकर गुजरती है, जिनमें गुजरात, राजस्थान, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, झारखंड, पश्चिम बंगाल, त्रिपुरा और मिजोरम शामिल हैं।

आप इसे भी पढ़ सकते हैं 

दोस्तों आप को हमारा यह लेख कैसा लगा आप हमें कमेंट कर के जरूर बताएं। आशा करता हूँ की आप को हमारा यह लेख पसंद आया होगा। आप का दिन सुभ हो , धन्यवाद।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top