भारत में आने वाले प्रमुख विदेशी यात्री

भारत में आने वाले प्रमुख विदेशी यात्री

हेलो दोस्तों आज हम इस लेख में भारत में आने वाले प्रमुख विदेशी यात्री और उनसे सम्बंधित प्रमुख जानकारी आप को देंगे,जो की आप की किसी प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए उपोयोगी है। कभी कभी प्रतियोगी परीक्षाओं में भारत में आने वाले प्रमुख विदेशी यात्री और उनसे सम्बंधित पुस्तकों के बारे में भी प्रश्न पूछ लिया जाता है। इस पोस्ट सभी प्रमुख यात्रिओं के बारे में विस्तार से जानकरि दिया गया है।

मेगस्थनीज :

  • मेगस्थनीज एक यूनानी इतिहासकार था जो चौथी सताब्दी में भारत आया था।
  • वह सेल्यूकस निकेटर के राजदूत के रूप में भारत आया था ?
  • मेगस्थनीज चन्द्रगुप्त मौय के शासन काल में चन्द्रगुप्त मौर्य के दरवार में लगभग 5 साल तक रहा था।
  • उन्होंने अपनी “इंडिका” नामक पुस्तक में भारत का वर्णन किया है।

डाइमेकस :

  • डाइमेकस सीरीयन नरेश आन्तियोकस का राजदूत था।
  • यह बिन्दुसार के राजदरवार में आया था।
  • डाइमेकस के द्वारा किये गए विवरण मौर्य साम्राज्य से सम्बंधित है।

ह्वेनसांग

  • यह चीनी यात्री हर्षवर्धन के शासनकाल के समय में भारत आया था।
  • उन्हें “तीर्थयात्रियों के राजकुमार” के रूप में वर्णित किया गया है।
  • वह कामरूप के शासक भास्कर वर्मन के अतिथि थे।
  • उन्होंने नालंदा विश्वविद्यालय में 5 साल बिताए और आचार्य शिलाभद्र के अधीन अध्ययन किया।

फाहियान:

  • फाहियान एक चीनी यात्री था जो चन्द्रगुप्त द्वितीय के शासनकाल में भारत आया था।
  • फाहियान का मूल उद्देश्य भारतीय बौद्ध ग्रंथों की जानकारी प्राप्त करना था।
  • इसने अपने विवरण में मध्यप्रदेश की जनता को सुखी और समृद्ध बताया है।
  • उनकी पुस्तक में उस समय की भारतीओं की धार्मिक और सामाजिक जीवनी का विवरण है।

मार्को पोलो:

  • मार्कोपोलो एक यूरोपीय विद्वान थे।
  • कहा जाता है उन्होंने दो बार दक्षिण भारत का यात्रा किया था।
  • इनका पुस्तक “द बुक ऑफ सर–मार्कोपोलो”  में भारत का आर्थिक इतिहास का वर्णन है।

हेरोडोटस:

  • हेरोडोटस को इतिहास का पितामह भी कहा जाता है।

अलबरूनी

  • अलबरूनी महम्मूद गजनी के साथ भारत आया था।
  • वह एक गणितज्ञ और खगोलशास्त्री था।
  • अलबरूनी भारत का अध्ययन करने वाला पहला मुस्लिम थे।
  • उसने “किताबुल हिन्द” हिन्द नमक पुस्तक की रचना की थी।
  • इस पुस्तक में हिन्दुओं के इतिहास, समाज, रीति रिवाज, तथा राजनीति का वर्णन है।
  • अलबरूनी के अनुसार भारतीय समाज 16 जातिओं में विभाजित था।

 

इतिहास से सम्बंधित अन्य लेख

  1. भारत के इतिहास सामान्य ज्ञान प्रश्न 
  2. भारत का भूगोल प्रश्न
  3.  भारत से सम्बंधित 100 महत्वपूर्ण प्रश्न 

दोस्तों मुझे आशा है की आप भारत में आने वाले प्रमुख विदेशी यात्री से सम्बंधित सभी जानकारी मिल गया होगा। आप को हमारा यह लेख कैसा लगा आप हमें कमेंट करके जरूर बताएं। हम इस वेबसाइट में रोज इस तरह के नयी नयी सामान्य ज्ञान से सम्बंधित पोस्ट लिखते रहते हैं। अगर आप एक स्टूडेंट हैं या किसी प्रतियोगी परीक्षा की तयारी कर रहे हैं तो आप हमारे इस वेबसाइट को सबस्क्राइब कर दीजिए ताकि नई पोस्ट की जानकारी आप को तुरंत प्राप्त हो। धन्यवाद।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top